Tuesday, December 18, 2018

डायबिटीज (मधुमेह) के लक्षण,कारण और घरेलु उपचार | Diabetes In Hindi

Diabetes Symptoms, Treatments and Home Remedies in Hindi

दोस्तों मान लिजिए के आपके पास दुनिया कि 50% Wealth है पर आपकी सेहत अच्छी नहीं है बार बार बिमारी के कारण परेशान रहते हो तो क्या आप जीवन का आनंद ले पाएगे ? नहीं दोस्तों कभी नहीं क्यु हमारी सच्ची Wealth हमारी Health है.

डायबिटीज (मधुमेह) के लक्षण,कारण और घरेलु उपचार


पहला सुख निरोगी काया ऐसा तो कही बार सुना होगा पर आज हम क्या अपनी सेहत का अच्छे से ध्यान रखते है यह बड़ी समस्या है, क्यु कि ज्यादातर लोग आज Wealth कमाने के चक्कर मे Health को बिगाड़ रहे है,अगर आप यह कर रहे है तो मेरी सलाह है कि आज से Full Stop लगा के रखो.

Diabetes Federation के एक सर्वे के अनुसार भारत मे आज 69.2 मिलियन लोग डायबिटीज के शिकार है,जो कि एक राष्ट्र के लिए अच्छा नहीं है,देश तभी तरक्की करेगा जब वहा के लोग Healthy होगे,आप भी डायबिटीज से परेशान हो तो आज हम आपको ऐसे तरीके बताएगे जो डायबिटीज को नियंत्रण मे रखेगा और डायबिटीज से आपका बचाव भी करेगा.

Diabetes होने का मुख कारण है हमारी जीवन शैली क्यु कि गलत खान-पान,व्यायाम कि कमी आज हमारी Bad Habit बन गई है,जो सारी बीमारियों कि जड़ है.

डायबिटीज के उपचार के बारे मे जानने से पहले Diabetes है क्या यह जानना बहुत जरुरी है,जब शरीर के पैनक्रियाज़ मे इंसुलिन का प्रवाह बंध हो जाता है और इसके कारण ब्लड मे सुगर कि मात्रा बढ़ने लगती है जिसे हम डायबिटीज कहते है. 

मधुमेह बीमारियों का घर है ऐसा ही मान लिजिए क्यु कि इसकी वजह से शरीर के अंगो को नुकसान होता है और यह किडनी कि समस्या,आंखो कि रोशनी कमजोर होना,हार्ट अटैक को भी आमंत्रित करता है.

डायबिटीज के प्रकार -Types of Diabetes in Hindi


मधुमेह मुख्य दो प्रकार के होते है टाइप-1 और टाइप-2 दोनों ही बॉडी के लिये हानिकारक है.

टाइप 1- इस प्रकार मे मरीज को इंसुलिन कि टेबलेट या फिर इंजेक्शन दिए जाते है,ख़ास कर युवानो मे और बच्चो मे टाइप-1 मधुमेह होता है.

टाइप 2- इस प्रकार के मधुमेह मे इंसुलिन बनना कम हो जाता है जिसके कारण ब्लड मे सुगर लेवल बढ़ता है,पेंक्रियाज़ के सेल निष्क्रिय होने लगते है.

Diabetes(मधुमेह) के शुरूआती लक्षण 


Diabetes Symptoms In Hindi-अगर हम मधुमेह के शिकार है या नहीं यह जानने के लिए यहा कुछ शुरूआती लक्षण के बारे मे बताया जा रहा है,अगर ऐसे लक्षण दिखे तो डॉक्टर से जरुर संपर्क करे.

1.असमय और ज्यादा भूख लगाना

2.बार बार पेशाब आने कि समस्या

3.आँखों कि रोशनी कमजोर होना 

4.किडनी मे दर्द होना या फिर ख़राब होना 

5.बार बार प्यास लगाना 

6.स्वभाव चिडचिड़ा हो जाना

7.ज्यादा समय उदास रहना 

8.जख्म का जल्दी ना भरना 

9.वजन तेज़ी से बढ़ाना या फिर तेज़ी से घटना 

10.हार्ट कि समस्या होना भी एक लक्षण हो सकता है.

11.आंखो पर काली पट्टी सा जाना.

अगर आप मे भी इसी तरह के कोई लक्षण देखे तो डॉक्टर से जरुर संपर्क करे या खुद ग्लुको मीटर से चेक जरुर करे. 

Causes Of Diabetes-डायबिटीज होने के कारण 


दोस्तों यहा पर हम आपको कुछ कारण बता रहे है जो मधुमेह के रोग को बुलावा देता है,तो आपको इससे सावधान रहना है.
[1].डायबिटीज एक आनुवांशिक बिमारी है,अगर आपके माता-पिता को मधुमेह है तो आपको होने कि पूर्ण संभवना होती है.

[2].जंक फूड इसका मुख्य करना है क्यु कि जंक फूड मे कैलोरिज के मात्र ज्यादा होती है जो शरीर के मोटापा का कारण है,मोटे शरीर से इंसुलिन बनना कम हो जाता है जो मधुमेह को जन्म देता है.

[3].शारीरिक श्रम कि कमी मधुमेह का कारण है.

[4].ज्यादा सुगर या तो मीठा खाना. 

[5].योग और एक्सरसाइज ना करना. 

[6].बहुत ज्यादा मात्रा मे भोजन करना मधुमेह को बुलावा देता है.

[7].शराब,धुम्रपान,तम्बाकू का सेवन भी एक कारण है.

Diabetes से बचने के उपाय 


अगर आपको मधुमेह का रोग नहीं है तो भी सावधान जरुर रहना चाहिए क्यु कि ख़राब जीवन-शैली आपके लिए खतरा बन सकती है.

(1).तनाव मुक्त जीवन इससे बचने का सबसे Best उपाय है,तनाव मुक्त होने के लिए आप सुबह सुबह योग,प्राणायाम और आसन जरुर करे.

(2).प्रतिदिन 30-30 Min कपालभाती और अनुलोम-विलोम प्राणायाम जरुर करे.

(3).जंक फूड,ज्यादा मीठा और तली हुई चीज़े ना खाए.

(4).हर रोज 7-8 घंटे कि अच्छी नींद ले.

(5).आहार मे सब्जिया और ताजे फलो को ज्यादा प्रयोग करे.

अगर आप अपने पर पूरा नियंत्रण ला सके और अपनी जीवन-शैली को बेहतर बनाएगे तो जरुर आप रोग मुक्त जीवन जीने मे सफल रहेगे,मधुमेह तो क्या किसी भी प्रकार का रोग आपको टच भी नहीं कर सकता अपनी रोग प्रति रोधक शक्ति को बढ़ाये.

Diabetes के घरेलु उपचार 


अगर आप अच्छे से इन घरेलु उपचार को Follow करते हो तो मधुमेह के ऊपर पूरा नियंत्रण पा सकते हो,और मे तो कहता हु कि डायबिटीज को जड़ से ख़त्म कर सकते हो.

1.गिलोय का सेवन करे

गिलोय के अद्भुत फायदे है,पर ख़ास कर डायबिटीज मे यह बहुत लाभ दायक है,गिलोय सुगर को जल्द ही नियंत्रण मे लाता है.

गिलोय के फायदे मधुमेह मे


आपको गिलोय कि दंडी के छोटे छोटे टुकड़े करके पेस्ट बना लेना है फिर एक ग्लास पानी मे पूरी रात भिगो देना है,सुबह सुबह खाली पेट इस रस का सेवन करे फिर देखे सुगर लेवल बहुत नियंत्रण मे आ जाएगा.

2.एलोवेरा के ज्यूस का उपयोग करे

एलोवेरा के ज्यूस का जरुर प्रयोग करे क्यु यह एक तरह से इंसुलिन कि कमी को पूरी करता है और ब्लड मे सुगर लेवल कम करता है,एक ग्लास एलोवेरा के रस का प्रयोग कर सकते हो.

3.योग और प्राणायाम करे

जी हा दोस्तों मेरे मत के अनुसार यह सबसे महत्वपूर्ण कड़ी है क्यु कि जब तेज़ी से व्यायाम करते हो तो पूरा शरीर स्वस्थ रहता है और सुगर भी कंट्रोल मे रहती है.

सुबह सुबह खाली पेट कपालभाती और अनुलोम-विलोम प्राणायाम जरुर करे क्यु कि कपालभाती प्राणायम से पेंक्रियाज़ के सेल फिर से सक्रीय हो जाते है और इंसुलिन बनने लगता है जो ब्लड मे सुगर को कंट्रोल मे रखता है.

आप हो सके तो सूर्य नमस्कार करे क्यु कि प्रतिदिन सूर्य नमस्कार करने से बॉडी को शारीरिक श्रम होता है जो डायबिटीज का रामबाण इलाज है.

4.डायबिटीज मे मेथी का सेवन करे

अगर आप मधुमेह के मरीज़ है तो हर रोज़ मेथी का सेवन जरुर करे,50 ग्राम मेथी का उपयोग हर दिन करे क्यु कि मेथी मे यह कुदरती गुण होते है जो सुगर को कम करता है.

5.आंवला और करेला का ज्यूस पिये

आंवला और करेला के रस का मिश्रण करके हर रोज सेवन करने से मधुमेह मे बहुत लाभ होता है क्यु यह इसके औषधि गुण है,एक चम्मच आंवले के रस को करेले के रस मे मिला कर पिये.

6.नीम के पते का प्रयोग करे

सुबह आप नीम के पते को चबाकर खाए या तो रात को सोते समय नीम के पते को पीसकर एक ग्लास पानी मे मिला दीजिए और फिर सुबह इसका प्रयोग करे 100% डायबिटीज मे फायदा होगा.       

     
           

             

             
                    

  











0 comments: